Prabhat Books
Prabhat Books

नवंबर 2022

IS ANK MEN

More

संपादकीय

ताकि देश की नींव सुदृढ़ हो
बच्चे भगवान् का रूप हैं...कन्याएँ देवी का रूप हैं...जैसे वाक्य खूब बोले-सुने जाते हैं। श्रीकृष्ण की बाल-लीलाएँ भी हर भारतवासी को आनंदित करती हैं। ...और आगे

प्रतिस्मृति

गोरी का गाँव गोरी का गाँव
नदी के किनारे जहाँ बाँध बनाया गया है, रामदत्त की वह खूबसूरत औरत गोरी रोज सबेरे बरतन माँजने आ जाया करती है। जब उधर से गुजरता हूँ, उसे देख लेता हूँ। अब उससे ही नहीं, उसके बरतनों से भी परिचित हो गया हूँ। एक तसला, एक कड़ाही, दो थाली और एक कलछुल, बस यही। ...और आगे

कहानी

विडंबना विडंबना
१०० नं. मकान का अहाता लगभग एक एकड़ का है। उसके ठीक बीचोबीच विशाल मकान अवस्थित है। पहले उसके सामने बड़ा सा लॉन था, लॉन में क्यारियाँ थीं, क्यारियों में रंग-बिरंगे फूल थे। ...और आगे

लघुकथा

एक हकीकत
नारी सुरक्षा समिति के आग्रह पर पुलिस ने दिल्ली के एक पॉश इलाके में छापा मारकर देह व्यवसाय में लिप्त कुछ लड़कियों को गिरफ्तार किया। ...और आगे

आलेख

अपने जीवन के अमृतकाल का आनंद लें अपने जीवन के अमृतकाल का आनंद लें
हम अपने ऐसे वरिष्ठ नागरिकों का सम्मान करें, जो क्रियाशील रहते हैं, अपने समय, अनुभव, ज्ञान और कौशल का सदैव सदुपयोग करते हैं। स्वस्थ तथा प्रसन्न रहते हैं। सांध्यप्रकाश में पावन गोधूलि को प्रणाम करते हुए अपने अमृतकाल का आनंद लेते हैं। ...और आगे

कविता

बाल-कविताएँ बाल-कविताएँ
सुपरिचित रचनाकार। हास्य, सामाजिक, आध्यात्मिक, पर्यावरण, व्यंग्य, कविता, गद्य लेख, कहानी और नाटक विधा में लेखन! 'काव्य सागर' पुस्तक प्रकाशित। अनेक काव्य गोष्ठी और कुछ कवि सम्मेलनों में सहभागिता। संप्रति परिधान और आई.टी. निर्यात के व्यवसायी! ...और आगे

गजल

गजलें गजलें
सुपरिचित रचनाकार। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में रचनाएँ प्रकाशित। अनेक सम्मानों से सम्मानित तथा काव्य मंचों पर सक्रिय। संप्रति शासकीय शिक्षा सेवा से संबद्ध। ...और आगे

राम झरोखे बैठ के

सामंती संस्कार बनाम आधुनिक तकनीक सामंती संस्कार बनाम आधुनिक तकनीक
हमें आज भी कनॉट प्लेस का किनारे का वह कोना याद है, जहाँ वह तथाकथित ज्योतिषी पिंजड़े के तोते को साथ-साथ लेकर बैठते थे। न कोई बोर्ड, न विज्ञापन। ...और आगे

संस्मरण

या विद्या सा विमुक्तये या विद्या सा विमुक्तये
पी.जी.डी.ए.वी. कॉलेज, आराम बाग, नई दिल्ली में महाविद्यालयीय श्लोक अंताक्षरी प्रतियोगिता। ...और आगे

हास्य-व्यंग्य

देवलोक में मंत्रिमंडल की बैठक देवलोक में मंत्रिमंडल की बैठक
देवलोक के राजा इंद्र को हमेशा अपनी कुरसी खतरे में दिखाई देती है। जहाँ भी असुर दल मिल-जुलकर कोई यज्ञ करता हुआ दिखाई दिया कि इंद्र की चिंता बढ़ जाती। ...और आगे

साहित्य का भारतीय परिपार्श्व

मेडम का डॉगी मेडम का डॉगी
मेडम रेणुका ने कार पार्क की, दरवाजा खोला और उसके साथ ही उनका डॉगी छलाँग लगाकर नीचे कूद गया और सीधा दौड़कर ऑफिस की दहलीज पर खड़ा हो गया। ...और आगे

साहित्य अमृत मासिक का लोकार्पण

साहित्य अमृत मासिक का लोकार्पण साहित्य अमृत मासिक का लोकार्पण
तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. शंकार दयाल शर्मा को 'साहित्य अमृत' का प्रवेशांक भेंट करते हुए प्रबंधक संपादक श्यामसुंदर, साथ में हैं पत्रिका के संस्थापक संपादक प. विद्धयानिवास मिश्र एवं प्रतिष्ठित साहित्यकार ...और आगे