Prabhat Books
Prabhat Books

संपादकीय

संसद् के कार्य में व्यर्थ व्यवधान
मानसून सत्र में चले गतिरोध के कारण संसद् का पूरा समय बरबाद हो गया और एन.डी.ए. सरकार के कई महत्त्वपूर्ण विधेयक पारित नहीं हो सके। इनमें जी.एस.टी. सबसे अहम था। ...और आगे

प्रतिस्मृति

उत्तर प्रदेश में हिंदी के पच्चीस वर्ष उत्तर प्रदेश में हिंदी के पच्चीस वर्ष
स्वतंत्रता की इस रजत जयंती के अवसर पर उत्तर प्रदेश ने इस अवधि में हिंदी के लिए जो कुछ किया और जो काम करना शेष है, उसका लेखा-जोखा लेना मनोरंजक ही नहीं, दुखदायी भी है। ...और आगे

कविता

हिंदी, भारत माँ की बिंदी हिंदी, भारत माँ की बिंदी
हिंदी से सजती भारत की भाषाएँ, सब मिल गाएँ भारत की गाथाएँ। ...और आगे

राम झरोखे बैठ के

आजादी है फ्रीगीरी में आजादी है फ्रीगीरी में
भारत की आजादी का श्रेय उन लाखों-करोड़ों स्वतंत्रता-संग्रामियों का न होकर एक परिवार का है। वह खानदान पीढ़ी-दर-पीढ़ी देश के लिए त्याग और बलिदान में सक्रिय है। ...और आगे

संपादकीय

अथश्री जगन्नाथजी नवकलेवर कथा अथश्री जगन्नाथजी नवकलेवर कथा
हिंदू धर्म में चार धाम प्रसिद्ध हैं, इनमें भी पुरी धाम सर्वश्रेष्ठ माना गया है। पवित्र पुराणों में वर्णन आता है कि प्रभु जगन्नाथजी स्नान बदरीनाथ धाम में करते हैं, ...और आगे

साहित्य का भारतीये परिपार्श्व

कोई प्रतिमा नहीं रखी है मैंने कोई प्रतिमा नहीं रखी है मैंने
गया था बुद्धगया सिर्फ देखने जैसे बुद्धगया को ही ...और आगे

साहित्य का विश्व परिपार्श्व

रामायण आज के संदर्भ में
भारत में सर्वप्रथम आयोजित अंतरराष्ट्रीय रामायण सम्मेलन में सोवियत रूस के प्रमुख हिंदी विद्वान् डॉ. इवजेनी चेलीशेव ...और आगे

बाल-कहानी

गाय और शेर के बच्चे गाय और शेर के बच्चे
जंगल में मीनू नाम की गाय रेनू शेरनी के घर के बगल में रहती थी। रेनू हमेशा मीनू को मारकर खाने की फिराक में रहती थी। ...और आगे

लघुकथा

पैर की जूती
चवन्ना जब तक एक-दो घंटा रोज शाम को अपनी घरवाली को गालियाँ न सुना लेत, उसे चैन न मिलता। ...और आगे

लोक-साहित्य

ओरछा की लोक संस्कृति ओरछा की लोक संस्कृति
मन क्षण-क्षण ऐसे उडे़ जैसे गगन विहंग। नगर ओरछा को चलें, चलो हमारे संग॥ ...और आगे

संस्मरण

हम मिलकर पूरा करेंगे डॉ. कलाम का सपना हम मिलकर पूरा करेंगे डॉ. कलाम का सपना
ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के रूप में भारत ने एक हीरा खो दिया है। लेकिन उस हीरे की चमक और रोशनी हमें उस मंजिल तक पहुँचाएगी, ...और आगे

कहानी

दाल की कटोरी
श्यामलाल दुविधाग्रस्त थे। बेटी के रिश्ते के बारे में कुछ निर्णय नहीं कर पा रहे थे। लड़केवालों का चौथा फोन आया था। ...और आगे